Sakhi पर चुनिंदा व बेहतरीन शायरी सुविचार स्टेट्स कविता गीत कहानियां

कलम, आज उनकी जय बोल – रामधारी सिंह दिनकर की प्रसिद्ध कविता

जला अस्थियाँ बारी-बारीछिटकाई जिनने चिंगारी,जो चढ़ गये पुण्यवेदी पर लिए बिना गर्दन का मोल ।कलम, आज उनकी जय बोल । जो अगणित लघु दीप हमारेतूफानों...