लेटेस्ट

मन का दर्पण – गुरु और शिष्य की कहानी । Guru Or Shishya Ki...

एक गुरुकुल के आचार्य अपने शिष्य की सेवा से...

एक अमीर आदमी के भगवान पर भरोसे की प्रेरणादायक कहानी

एक अमीर आदमी था। उसने समुद्र मे अकेले घूमने...
Homeकहानियांअंधविश्वासी आदमी की कहानी

अंधविश्वासी आदमी की कहानी

एक गाँव में एक आदमी रहता था। वह आदमी पूरे गाँव में अन्धविश्वासी के नाम से मशहूर था। उसकी पत्नी उससे परेशान हो चुकी थी| जब कभी भी उस आदमी की पत्नी से दूध फेल जाता तो वह घबरा जाता और तुरंत मंदिर में जाकर पाठ करने लगता|

कभी उसकी पत्नी से कोई काँच की चीज टूट जाये तो वह आग बबूला हो जाता| उसके इस व्यवहार के चलते पति–पत्नी में दूरियाँ बनती गईं| पत्नी अपना काम करती और उसका काम उसी को करने देती|

उस आदमी को सफाई बहुत पसंद थी मगर दोनों के बीच दूरियों के कारण घर की सफाई भी नहीं हो पा रही थी क्योंकि पत्नी कहती कि अगर मैंने सफाई की और गलती से कोई काँच की चीज मुझसे टूट गई तो आप तो डाँटोगे ही, इसलिए मैं घर की सफाई नहीं कर सकती|

और आदमी बोलता-जिस घर में आदमी सफाई करे, उस घर में लक्ष्मी और खुशियाँ कभी नहीं आ सकतीं| अब सफाई को लेकर भी दोनों के बीच में खूब बहस होती| आखिर में उस आदमी को काम वाली बाई रखनी पड़ी| मगर काम वाली बाई भी उसके अन्धविश्वास के चलते वहाँ ज़्यादा दिन न रह सकी|

एक दिन उसके घर में चोरी हो गई|

पत्नी के पुलिस को फ़ोन करने को कहने पर वह बोला-“रूको। जब कभी भी घर में कोई बुरा काम हो जाये तो आधे या एक घंटे बाद ही कोई दूसरा काम करना चाहिए|”

पत्नी अपना माथा पकड़कर वहीं बैठ गई| उसकी पत्नी रोज यही सोचती कि कब उसके आदमी का अन्धविश्वास छूटेगा| पर कहते हैं कि भगवान के घर देर है, अंधेर नहीं| एक दिन कुछ ऐसा हुआ कि उस आदमी का सारा अन्धविश्वास दूर हो गया|

हुआ कुछ यूँ कि कुछ दिनों से उस आदमी के घर के पीछे स्थित नारियल के झुरमुट से एक बच्चे की रोने की आवाज आती थी| इससे वह बहुत डर जाता| उसकी पत्नी कहती कि चलो देख के आते हैं कि आखिर क्या है वहाँ पर।

पर वह उसे डाँट कर घर से बाहर निकलने ही नहीं देता| एक दिन वह एक तांत्रिक को अपने घर पे ले आया| तांत्रिक ने घर पे आते ही कहा कि इस घर पे और इसके आस-पास काली शक्तियों का बसेरा है| वह आदमी डर गया|

उसने बोला- “बाबा! अब क्या करें?” बाबा ने कहा कि एक हवन करना पड़ेगा और इसमें 21 हजार रूपये खर्चा होगा| उसकी पत्नी ने उसे रोका पर वह नहीं माना| हवन होने के बाद भी कुछ नहीं हुआ|

एक दिन उसके घर के पास से राजू निकला जो उन नारियल के पेड़ों से नारियल तोड़ता और उन्हें बाज़ार में बेचता था| वह बहुत परेशान दिख रहा था तो उस आदमी ने उससे कारण पूछा|

राजू बोला- “मेरा मोबाइल नारियल के पेड़ों के पास कहीं गिर गया था, मिल ही नहीं रहा|”

वह आदमी बोला- “राजू! वहाँ मत जाया कर। वहाँ काली शक्तियों का राज है। वहाँ रोज़ एक बच्चे की रोने की आवाज आती है|”

यह सुनकर राजू जोर–जोर से हँसने लगा और बोला- “साब, आप कितने पागल हो। वह आवाज तो मेरे मोबाइल में से आती है। मैंने अपने मोबाइल में बच्चे की रोने की आवाज सेट की है|”

आस पास खड़े लोग भी उस आदमी पर हँसने लगे और उस आदमी की गर्दन शर्म से नीचे झुक गई|

Explore More - Hindi Shayari, Quotes, Lyrics, English News, Hindi News, Web Development, IT Services, SEO

Related Posts

सम्मान की इच्छा – कृष्ण और अर्जुन की कहानी ।...

एक बार की बात है कि श्री कृष्ण और...

मन का दर्पण – गुरु और शिष्य की कहानी ।...

एक गुरुकुल के आचार्य अपने शिष्य की सेवा से...

अक्सर पुरूष चकित रहते हैं कि प्रेमिका इतनी स्वीट और...

तो सुनो- बारिश में प्रेमिका को उधार की बाईक...

सत्कर्म करें, अहंकार नहीं – श्री कृष्ण व अर्जुन संवाद...

▪️ सत्कर्म करें, अहंकार नहीं ▪️एक बार की बात...

टॉप ट्रेंडिंग

अपना टाइम आता नहीं लाना पड़ता हैं

✅ 18 साल की उम्र में ज्यादातर लोग सोचते...

बड़ा बनने के लिए बड़ा सोचो – Hindi Motivational Story

अत्यंत गरीब परिवार का एक बेरोजगार युवक नौकरी की...

देर ना हो जाए कहीं – जीवन के महत्व को समझाती हिन्दी कहानी

एक राजा वन में शिकार पर निकला था। रास्ता...