बेटी हमारे घर में आई । बेटी पर कविता । Beti Hamare Ghar Me Aayi – Beti Par Kavita

बेटी हमारे घर में आई,
खुशियों की बारात लाई,
प्यार का दिया जलाया
रोशनी भी साथ लाई ।

बेटी होती है गुणकारी
ना समझो इसने इसने बेचारी
यही कल्पना, यही इन्दिरा
यही प्रतिभा पाटिल है हमारी।

बेटी को पढावांगे
उन्नत समाज बनावांगे,
पढ़ें बेटी यूं ज़हान सुधरे
इसी रीत चलावांगे ।

छोटी बेटी नहीं लपेटी
यूं भ्रम दूर करेंगे,
पढ़ी छोरी होगी तो
छोरे का लारा पर लारा पड़ेंगे।

जिस लड़के से शादी करे
बेटी तु वो लड़का देख लिए,
उस लड़के से तु
अपना दु:ख बाट लिए।

अगर या रीत चल जाएगी
तो हमारा समाज सुधरेगा,
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
का भी समाज सुधरेगा।

कह खान मनजीत बेटियों को
ना समझो पराई,
जिसका बेटा उसी बेटी
कहने जननी माई ।

यह भी पढ़ें

बेटियाँ खुदा की दी हुई बरकत होती है – Beti Status Video | Daughters Day 2022

बेटियाँ खुदा की दी हुई बरकत होती है,बहुतो के...

बेटियों पर कविता तिवारी की कविता । Kavita Tiwari Poem on Beti

जिम्मेदारियों का बोझ परिवार पे पड़ा तो ,ऑटो ,...

पल पल दिल के पास तुम रहती हो लिरिक्स । Pal Pal Dil Ke Pas Tum Rehti Ho Lyrics in Hindi

पल पल दिल के पास, तुम रहती होजीवन मीठी...

टॉप ट्रेंडिंग

देश और दुनियां में शांति और भाईचारा बना रहे,...

कोमल है कमज़ोर नहीं तूशक्ति का नाम ही नारी...

हम शिक्षक है, शिक्षा की तस्वीर बदल देंगेभारत के...