कितने चेहरे कितनी शक्लें – Chehre, Shakl, Tanhai, Aaina Par Sad Shayari

कितने चेहरे कितनी शक्लें
फिर भी तन्हाई वही,
कौन ले आया मुझे
इन आईनों के दरमियाँ.

यह भी पढ़ें

कुछ तुम ले गए – Jamana, Sukun par Sad Shayari

कुछ तुम ले गए... कुछ जमाना...इतना सुकून हम... लाते...

ऐसा ना हो तुझको भी – Diwana, Tanhai, Tasvir Par Alone Shayari in Hindi

ऐसा ना हो तुझको भीदीवाना बना डाले,तन्हाई मैं खुद...

याद करने की हम ने – Yaad, Bhulna Par Sad Shayari in Hindi

याद करने की हम नेहद कर दी मगर,भूल जाने...

टॉप ट्रेंडिंग

सिया रघुवर जी के संग परन लगी हरे हरेपरन...

जिम्मेदारियों का बोझ परिवार पे पड़ा तो ,ऑटो ,...

परदेसी से दिल ना लगानावो बड़े मजबूर होते हैं,वो...