कितने चेहरे कितनी शक्लें – Chehre, Shakl, Tanhai, Aaina Par Sad Shayari

कितने चेहरे कितनी शक्लें
फिर भी तन्हाई वही,
कौन ले आया मुझे
इन आईनों के दरमियाँ.

यह भी पढ़ें

ऐसा ना हो तुझको भी – Diwana, Tanhai, Tasvir Par Alone Shayari in Hindi

ऐसा ना हो तुझको भीदीवाना बना डाले,तन्हाई मैं खुद...

याद करने की हम ने – Yaad, Bhulna Par Sad Shayari in Hindi

याद करने की हम नेहद कर दी मगर,भूल जाने...

क्या रोग दे गई है ये – Rog, Mausam, Barish, Yaad, Bhul Jana Shayari

क्या रोग दे गई है येनये मौसम की बारिश,बहुत...

टॉप ट्रेंडिंग

आप सभी को शारदीय #नवरात्रि के पावन पर्व की...

अच्छे किरदार, अच्छे संस्कार और अच्छे विचार वाले लोग...

यह भी पढ़ें - डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जीवन...