दौलत नहीं…शोहरत नहीं…Daulat, Shohrat, Waah, Kese Ho, Lafj, Parwah Shayari

दौलत नहीं…शोहरत नहीं…
ना ही वाह चाहिए
“कैसे हो”…बस दो
लफ्जों की परवाह चाहिए ।

यह भी पढ़ें

अच्छे किरदार, अच्छे संस्कार और अच्छे विचार | Kirdar, Sanskar, Achhe Vichar, Dil, Lafj, Dua Par Suvichar

अच्छे किरदार, अच्छे संस्कार और अच्छे विचार वाले लोग...

यह 8 बातें आपकी जिंदगी बदल देंगी – 8 Life Changing Thoughts in Hindi

1.जब आप अकेले होते हैं तो लोग आपकी परवाह...

मेरे लफ्जों की पहचान – Lafj, Pehchan, Mohabbat Shayari for GF/BF

मेरे लफ्जों की पहचानअगर कर लेता वोउसे मुझसे नहींखुद...

टॉप ट्रेंडिंग

लोक आस्था एवं सूर्य उपासना के महापर्व छठ पूजा...

“शिक्षक” और “सड़क”दोनों एक जैसे होते हैंखुद हाँ हैं...

सिया रघुवर जी के संग परन लगी हरे हरेपरन...