हार जीत पर शायरी सुविचार । Haar Jeet Par Shayari Suvichar in Hindi

विजेता पर शायरी

जो कभी असफल नहीं हुए
विजेता वो नहीं बनते ,
बल्कि वो बनते हे जो कभी
हार नहीं मानते।

कमजोर तब रुकते हैं
जब वो थक जाते हैं
और विजेता तब रुकते हैं
जब वो जीत जाते हैं।

मुझे तो खबर भी न थी की कौन-कौन साथ दौड़ रहा है मेरे
पहुंचा मंजिल पर तो पता चला की एक लम्बा कारवां मेरे पीछे था।

कचरे का ढेर दरीचे में रख छोड़ा है मैनें
इन आँधियों का गुरूर कुछ यूँ तोड़ा है मैनें

जितने का मजा तभी आता हे जब सभी लोग आपके हारने का इंतजार कर रहे हो।

जीत पर सुविचार

आपकी सोच पर ही निर्भर रहती है
जीत और हार
मान लो तो हार होगी और ठान
लो तो जीत होगी।

हार पर शायरी

अपनी जित पर इतना भी गुमान
न कर ये बेखबर
शहर में तेरी जीत से ज्यादा चर्चे तो
मेरी हार के हैं।

यह भी पढ़ें

ख़्वाब – Khwab, Haar, Dar par Shayari

ख़्वाब, हार से नहीं टूटते हार के डर से टूटते...

भ्रष्टाचार पर शायरी स्टेट्स । Corruption Shayari Status in Hindi

लूटते नेता और अफसरजन-जन को प्यार से!सो जनता करे...

गुरुर में इंसान को – Gurur, Insaan, Chhat, Makan Par Shayari

गुरुर में इंसान कोकभी इंसान नहीं दिखताजैसे अपनी छत...

टॉप ट्रेंडिंग

मातृभूमि की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व अर्पण करने...

नफरत खुलकर औरमोहब्बत छुप कर करते है,हम इंसान अपनी...

परिन्दों की फ़ितरत सेआए थे वो मेरे दिल में,ज़रा...