हार जीत पर शायरी सुविचार । Haar Jeet Par Shayari Suvichar in Hindi

विजेता पर शायरी

जो कभी असफल नहीं हुए
विजेता वो नहीं बनते ,
बल्कि वो बनते हे जो कभी
हार नहीं मानते।

कमजोर तब रुकते हैं
जब वो थक जाते हैं
और विजेता तब रुकते हैं
जब वो जीत जाते हैं।

मुझे तो खबर भी न थी की कौन-कौन साथ दौड़ रहा है मेरे
पहुंचा मंजिल पर तो पता चला की एक लम्बा कारवां मेरे पीछे था।

कचरे का ढेर दरीचे में रख छोड़ा है मैनें
इन आँधियों का गुरूर कुछ यूँ तोड़ा है मैनें

जितने का मजा तभी आता हे जब सभी लोग आपके हारने का इंतजार कर रहे हो।

जीत पर सुविचार

आपकी सोच पर ही निर्भर रहती है
जीत और हार
मान लो तो हार होगी और ठान
लो तो जीत होगी।

हार पर शायरी

अपनी जित पर इतना भी गुमान
न कर ये बेखबर
शहर में तेरी जीत से ज्यादा चर्चे तो
मेरी हार के हैं।

यह भी पढ़ें

गुरुर में इंसान को – Gurur, Insaan, Chhat, Makan Par Shayari

गुरुर में इंसान कोकभी इंसान नहीं दिखताजैसे अपनी छत...

शब्द और दिमाग से – Shabd, Dimag, Duniya, Jeet, Dil Par Best Shayari in Hindi

शब्द और दिमाग सेदुनिया जीती जाती है,दिल तो आज...

टॉप ट्रेंडिंग

आप सभी को शारदीय #नवरात्रि के पावन पर्व की...

हुस्न-ए-बेनजीर के तलबगार हुए बैठे हैं,उनकी एक झलक को...

अपनी दुनिया, अपनी धुन मेंखो जाऊं तो क्या होगा...