होंठों से छू लो तुम – लिरिक्स । Hothon Se Chhu Lo Tum Lyrics in Hindi

होंठों से छूलो तुम
मेरा गीत अमर कर दो
होंठों से छूलो तुम
मेरा गीत अमर कर दो
बन जाओ मीत मेरे
मेरी प्रीत अमर कर दो

होंठों से छूलो तुम
मेरा गीत अमर कर दो

ना उम्र की सीमा हो
ना जन्म का हो बंधन
ना उम्र की सीमा हो
ना जन्म का हो बंधन
जब प्यार करे कोई
तो देखे केवल मन
नयी रीत चलाकर तुम
ये रीत अमर कर दो
नयी रीत चलाकर तुम
ये रीत अमर करा दो

आकाश का सूनापन
मेरे तन्हा मन में
आकाश का सूनापन
मेरे तन्हा मन में
पायल छनकाती तुम
आजाओ जीवन में
साँसें देकर अपनी
संगीत अमर कर दो
संगीत अमर कर दो
मेरा गीत अमर कर दो

जग ने छीना मुझझे
मुझे जो भी लगा प्यारा
जग ने छीना मुझझे
मुझे जो भी लगा प्यारा
सब जीता किये मुझसे
मैं हर दम ही हारा
तुम हार के दिल अपना
मेरी जीत अमर कर दो
तुम हार के दिल अपना
मेरी जीत अमर कर दो

होंठों से छूलो तुम
मेरा गीत अमर कर दो

यह भी पढ़ें

टॉप ट्रेंडिंग

भारत मां के रक्षक सभी फौजी भाइयों को भारतीय...

सोच भले ही नई रखो लेकिनसंस्कार पुराने ही अच्छे...

ओ देश मेरे !तेरी शान पे सदकेकोई धन है...