अभी बाकी है इश्क़ में – Ishq, Imtehan, Gali, Kutai Par Shayari

अभी बाकी है इश्क़ में
इम्तेहान उसका,
अभी मेरी गली में
कुटा नहीं गया है वो.

यह भी पढ़ें

गर शौक चढ़ा है इश्क़ का – Shauk, Ishq, Imtehan, Barish, Ashq, Pehchan Par Shayari

गर शौक चढ़ा है इश्क़ कातो इम्तेहान देना तुम,बारिश...

हुनर मोहब्बत का – Hunar, Mohabbat, Husn, Ishq Par Shayari

हुनर मोहब्बत काहर किसी को कहाँ आता है,लोग हुस्न...

मिलावट है तेरे इश्क में – Milawat, Ishq, Itar, Sharab, Mehak, Behakna par Shayari

मिलावट है तेरे इश्क मेंइतर और शराब की,कभी हम...

टॉप ट्रेंडिंग

हुस्न-ए-बेनजीर के तलबगार हुए बैठे हैं,उनकी एक झलक को...

अपनी दुनिया, अपनी धुन मेंखो जाऊं तो क्या होगा...

आप सभी को शारदीय #नवरात्रि के पावन पर्व की...