कांच ही बांस के बहंगिया – छठ गीत लिरिक्स – Kanch Hi Bans Ke Bahangiya – Chhath Geet Lyrics in Hindi

कांच ही बांस के बहंगिया,
कांच ही बांस के बहंगिया,

बहंगी लचकत जाए,
बहंगी लचकत जाए ||

होए ना बलम जी कहरिया ,
बहंगी घाटे पहुंचाए,
बहंगी घाटे पहुंचाए |

कांच ही बांस के बहंगिया ,
बहंगी लचकत जाए,
बहंगी लचकत जाए ||

बाट जे पूछे ना बटोहिया ,
बहंगी केकरा के जाय,
बहंगी केकरा के जाय |

तू तो आंध्र होवे रे बटोहिया ,
बहंगी छठ मैया के जाए,
बहंगी छठ मैया के जाए |

वह रे जे बाड़ी छठी मैया ,
बहंगी उनका के जाए,
बहंगी उनका के जाए|

कांच ही बांस के बहंगिया
बहंगी लचकत जाए,
बहंगी लचकत जाए ||

होए ना देवर जी कहरिया ,
बहंगी घाटे पहुंचाई,
बहंगी घाटे पहुंचाई ||

वह रे जो बाड़ी छठी मैया
बहंगी उनका के जाए,
बहंगी उनका के जाए ||

बाटे जे पूछे ना बटोहिया
बहंगी केकरा के जाय,
बहंगी केकरा के जाय ||

तू तो आन्हर होय रे बटोहिया
बहंगी छठ मैया के जाए,
बहंगी छठ मैया के जाए ||

वह रे जय भइली छठी मैया ,
बहंगी उनका के जाए,
बहंगी उनका के जाए ||

यह भी पढ़ें

पहिले पहिले हम कईनी – छठ पूजा के गीत । Pahile Pahil Hum Kaini Chhathi Maiya Geet Lyrics in Hindi

पहिले पहिले हम कईनी,छठी मईया वरत तोहार ,छठी मईया...

टॉप ट्रेंडिंग

एक कौआ था जो अपनी जिंदगी से बहुत खुश...

तुझे चाहा भी तो इजहार न कर सके,कट गई...

मैं आपको बता दूँ,कि गुरू की क्या पहचान है,इस...