ख्वाहिशों के बाजार – Khwahish, Bazar, Sasta, Garib, Muskurahat, Kharid Shayari

ख्वाहिशों के बाजार सस्ते होते है,
गरीब मुस्कुराहट यूँ ही खरीद लेते है.

यह भी पढ़ें

पूरे की ख्वाहिश में – Khwahish, Insaan, Kho Dena, Bhul, Aadha Chand, Khubusrat

पूरे की ख्वाहिश मेंइंसान बहुत कुछ खोता है,भूल जाता...

जब पास में पैसा हो तो – Pesa, Duniya, Musukurahat, Jeb, Dil Dukhana Shayari

जब पास में पैसा हो तोदुनिया साथ में मुस्कुराती...

इच्छाएँ बड़ी बेवफ़ा होती हैं – Ichcha, Bewafa, Badalna Par Shayari

इच्छाएँ बड़ीबेवफ़ा होती हैं कमबख्त,पूरी होते हीबदल जाती हैं।

टॉप ट्रेंडिंग

आप सभी को शारदीय #नवरात्रि के पावन पर्व की...

अच्छे किरदार, अच्छे संस्कार और अच्छे विचार वाले लोग...

यह भी पढ़ें - डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जीवन...