कितने अजीब हैं हम लोग

कितने अजीब हैं हम लोग
हकीकत में कम और
तस्वीर में ज्यादा मुस्कुराते हैं

यह भी पढ़ें

ऐसा ना हो तुझको भी – Diwana, Tanhai, Tasvir Par Alone Shayari in Hindi

ऐसा ना हो तुझको भीदीवाना बना डाले,तन्हाई मैं खुद...

ख्वाहिशों के बाजार – Khwahish, Bazar, Sasta, Garib, Muskurahat, Kharid Shayari

ख्वाहिशों के बाजार सस्ते होते है,गरीब मुस्कुराहट यूँ ही...

जब पास में पैसा हो तो – Pesa, Duniya, Musukurahat, Jeb, Dil Dukhana Shayari

जब पास में पैसा हो तोदुनिया साथ में मुस्कुराती...

टॉप ट्रेंडिंग

इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से निकले,गोविन्द...

बा मुश्किल हैये गवारा करनादिल से उतरे हुए लोगों...

हो भी नहीं और हर जहाँ होतुम एक गोरखधंधा...