लल्लू चार वर्ष से एक सर्कस में

लल्लू चार वर्ष से एक सर्कस में शेरों को ट्रेनिंग दे रहा था-
एक दिन सुबह नाश्ता करते समय किसी बात पर पत्नी से बहस हो गई… 🥱
लल्लू को गुस्सा आ गया और वो नाश्ता छोड़ कर सर्कस चला गया-😎
पत्नी गुस्से में आग बबूला हो गई और उसने भी लल्लू को रोका नहीं.. 😀
शाम को अचानक धुंआधार बारिश शुरू हो गई….
लल्लू का गुस्सा अभी तक ठंडा नहीं हुआ था इसलिए उसने फैसला किया कि आज रात घर नहीं जाऊंगा…. 😎
और वो शेर के साथ पिंजरे में ही लेट गया और कम्बल तान के सो गया…. 😀
रात ज़्यादा बीत गई तो घर पर पत्नी को चिंता हुई ….🥱
मोबाइल पर कॉल किया लेकिन उस समय लल्लूगहरी नींद सो रहा था, फोन सुना ही नहीं😀
पत्नी की परेशानी चरम पर पहुंच गई-
उसने कार निकाली और खुद ड्राइव करके सर्कस जा पहुंची….😀
देखा लल्लू शेर के पिंजरे में खर्राटे ले रहा है🥱
पत्नी ने एक छड़ी उठाई और शेर के पिंजरे के पास गईं ।उसने छड़ी को लल्लू पर चुभोते हुए कहा:-
डरपोक कहीं के… यहां छुपे बैठे हो ❓ तुम्हें क्या लगता है… ये शेर तुम्हें मुझसे बचा लेगा…..”….❓
🤣🤣🤣🤣

यह भी पढ़ें

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा लिरिक्स । Vijayi Vishwa Tiranga Pyara Lyrics in Hindi

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा,झंडा ऊंचा रहे हमारा। सदा शक्ति बरसाने...

सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा लिरिक्स । Sare Jahan Se Achha Lyrics in Hindi

सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्तां हमारासारे जहाँ से अच्छा,...

टॉप ट्रेंडिंग

सिया रघुवर जी के संग परन लगी हरे हरेपरन...

जिम्मेदारियों का बोझ परिवार पे पड़ा तो ,ऑटो ,...

परदेसी से दिल ना लगानावो बड़े मजबूर होते हैं,वो...