मोहब्बत थी – Mohabbat, Chand, Daag Par Sad Shayari

मोहब्बत थी
तब तक चाँद अच्छा था
उतर गई
तो दाग भी दिखने लगे

यह भी पढ़ें

याद करने की हम ने – Yaad, Bhulna Par Sad Shayari in Hindi

याद करने की हम नेहद कर दी मगर,भूल जाने...

कितने चेहरे कितनी शक्लें – Chehre, Shakl, Tanhai, Aaina Par Sad Shayari

कितने चेहरे कितनी शक्लेंफिर भी तन्हाई वही,कौन ले आया...

मोहब्बत तो एक तरफा – Ek Tarfa Pyar or Dono Tarfa Pyar Par Shayari, Kisam, Mohabbat

मोहब्बत तो एक तरफाही होती है,दोनों तरफ हो जाये...

टॉप ट्रेंडिंग

आप सभी को शारदीय #नवरात्रि के पावन पर्व की...

हुस्न-ए-बेनजीर के तलबगार हुए बैठे हैं,उनकी एक झलक को...

सिया रघुवर जी के संग परन लगी हरे हरेपरन...