न तेरी शान कम होती – GF/BF Gussa Sad Shayari

न तेरी शान कम होती
न रुतबा ही घटा होता,
जो गुस्से में कहा तुमने
वही हँस के कहा होता.

यह भी पढ़ें

याद करने की हम ने – Yaad, Bhulna Par Sad Shayari in Hindi

याद करने की हम नेहद कर दी मगर,भूल जाने...

कितने चेहरे कितनी शक्लें – Chehre, Shakl, Tanhai, Aaina Par Sad Shayari

कितने चेहरे कितनी शक्लेंफिर भी तन्हाई वही,कौन ले आया...

क्या रोग दे गई है ये – Rog, Mausam, Barish, Yaad, Bhul Jana Shayari

क्या रोग दे गई है येनये मौसम की बारिश,बहुत...

टॉप ट्रेंडिंग

सिया रघुवर जी के संग परन लगी हरे हरेपरन...

वो मर्द बनोजिसे औरत चाहे,वो नहींजिसे औरत चाहिए.

“शिक्षक” और “सड़क”दोनों एक जैसे होते हैंखुद हाँ हैं...