जब राजनीति में धर्म आता है – Rajniti, Dharm, Ramayan, Mahabharat Par Suvichar

जब राजनीति में धर्म आता है
तो रामायण लिखी जाती है,
और जब धर्म में राजनीति आती है
तो महाभारत लिखी जाती है.

यह भी पढ़ें

टॉप ट्रेंडिंग

आप सभी को शारदीय #नवरात्रि के पावन पर्व की...

हुस्न-ए-बेनजीर के तलबगार हुए बैठे हैं,उनकी एक झलक को...

सिया रघुवर जी के संग परन लगी हरे हरेपरन...