स्त्री कभी हारती नहीं है – Stri, Haar, Samaj, Bachpan, Dar Par Shayari

स्त्री कभी हारती नहीं है
उसे हराया जाता है,
समाज क्या कहेगा, यह कहकर
उसे बचपन से डराया जाता है.

यह भी पढ़ें

पा लेने की बेचैनी – Pa Lena, Bechaini, Kho Dena, Dar, Zindagi, Safar par Shayari

पा लेने की बेचैनीऔर खो देने का डरबस इतना...

रजनी चौहान शायरी सुविचार । Rajni Chauhan Shayari Quotes Collection in Hindi

यूं वक़्त बेवक़्त ख्यालातों का बदलनामेरा होकर भी, तेरा...

पुरुष जब हारने लगता है तो – Purush, Haar, Hamla, Charitra Par Shayari

पुरुष जबहारने लगता है तो,पहला हमलाउसके चरित्र पर करता...

टॉप ट्रेंडिंग

चिलचिलाती धूप में आए ढूंढने छांव,देखा जब मोर को...

वो कहाँ तूझसे इश्क़ करता है,बस तन्हा होता है...

उम्मीदें तैरती रहती हैं,कश्तियां डूब जाती है.. कुछ घर सलामत...