जिस वक्त उसने कहा – Wakt, Soch, Ghatiya Par Shayari

जिस वक्त उसने कहा
तुम्हारी सोच ही घटिया है,
उस वक्त भी मैं
उसे ही सोच रहा था.

यह भी पढ़ें

तुमसे अच्छे तो – Dushman, Achhe, Dokhebaj GF/BF Ke Liye Shayari

तुमसे अच्छे तोमेरे दुश्मन निकले,जो हर बात पर कहते...

साहिल पे बैठे यूँ सोचता हूं आज – Sahil, Soch, Majbur, Kinara, Lahar Par Shayari

साहिल पे बैठे यूँ सोचता हूं आज,कौन ज़्यादा मजबूर...

यही सोच कर उसकी हर बात – Sach, Khusurat, Hont, Jhuth Par Shayari Status

यही सोच कर उसकी हर बातको सच मानते थे,की...

टॉप ट्रेंडिंग

आप सभी को शारदीय #नवरात्रि के पावन पर्व की...

सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय की अवधारणा के प्रतीक, महापुरुष,...

अच्छे किरदार, अच्छे संस्कार और अच्छे विचार वाले लोग...