जिंदगी समझ नहीं आई तो – Zindagi, Samjh, Mela, Akela Par Suvichar

जिंदगी समझ नहीं आई तो
मेले में भी अकेला,
और समझ आ गई तो
अकेले में भी मेला।

यह भी पढ़ें

हर आदमी स्वर्ग जाना चाहता है – Har Aadmi, Swarg, Marna Nhi Chahta Suvichar

हर आदमी स्वर्ग जाना चाहता है,परन्तु कोई मरना नहीं...

टॉप ट्रेंडिंग

कोमल है कमज़ोर नहीं तूशक्ति का नाम ही नारी...

हम शिक्षक है, शिक्षा की तस्वीर बदल देंगेभारत के...

जिंदगी के इस रण में खुद ही कृष्ण और...